Home remedies for Pigmentation | जब हो चेहरे पर झाइयों की समस्या

Best 7 Home remedies for Pigmentation.

अगर आपके चेहरे पर भी झाइयां है तो, आप इस लेख में बताए जाने वाले आसान से 7 घरेलू उपाय (Best 7 Home remedies for Pigmentation) का उपयोग करके झाइयां से निजात पा सकते है। इस लेख में हमने pigmentation की पूरी जानकारी दी है। जैसे पिगमेंटेशन क्या है? पिगमेंटेशन के कारण और Home remedies for Pigmentation.


आज के दौर में हर दूसरा-तीसरा इंसान skin problem face कर रहा है। कोई चेहरे के कील मुंहासे से परेशान है तो कोई चेहरे के अनचाहे बालों से, लेकिन अच्छी बात यह है ज्यादातर मामलों में इनको ठीक करने के तरीके भी आपके हाथ में होते हैं। पिगमेंटेशन भी एक ऐसी ही समस्या है। अगर आप इस आर्टिकल में बताई home remedies use करें और खुद पर थोड़ा ध्यान दें तो इनसे छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन इसके लिए आपको यह आर्टिकल पूरा पढ़ना होगा।


पिगमेंटेशन (झाइयां) क्या है? – What is Pigmentation?

हमारा skin tone एक सा होता है। लेकिन जब skin पर patches हो जाते हैं तो skin tone uneven होने लगती है। इस कंडीशन को pigmentation कहते हैं।

वैसे तो पिगमेंटेशन पूरे शरीर पर होता है। पर exposed areas जैसे चेहरे, हाथ, पीठ पर ज्यादा नजर आता है। पिगमेंटेशन से महिलाएं ज्यादा प्रभावित होती हैं। यह 30-35 साल की उम्र के बाद ज्यादा होता है।

पिगमेंटेशन हर स्किन टाइप के व्यक्ति को हो सकता है।


पिगमेंटेशन के प्रकार – Types of Pigmentation.

पिगमेंटेशन के दो प्रकार होते हैं। Hyperpigmentation और Hypopigmentation.

Hyperpigmentation को झाइयां भी कहते हैं। इसमें स्किन पर भूरे या काले धब्बे बन जाते हैं। झाइयां आंखों के नीचे, नाक और गालों पर ज्यादा नजर आती हैं।

– Hypopigmentation में skin tone सामान्य से हल्का होने लगता है। स्किन पर हल्के गुलाबी और सफेद patches बनने लगते हैं। यह किसी एक हिस्से में या फिर पूरे शरीर में भी हो सकता है।




पिगमेंटेशन के कारण – Causes of Pigmentation.

Hyperpigmentation के प्रमुख कारण इस तरह हो सकते हैं:-

1. लंबे समय तक धूप में घूमना:-
धूप में में हानिकारक UV (अल्ट्रा वॉयलेट) rays होती हैं। इनसे बचाव के लिए हमारा शरीर melanin बनाता है। ये melanin हमारी स्किन की रक्षा करती है। पर ज्यादा melanin बनने की वजह से skin tone dark होने लगता है।

2. Cosmetics से एलर्जी
:-
ज्यादातर cosmetics में केमिकल का इस्तेमाल होता है। इससे skin allergy हो सकती है। और रिएक्शन की वजह से hyperpigmentation हो सकता है।

3. हार्मोन्स की प्रॉब्लम:-
थायरॉइड, oestrogen और adrenal hormones की गड़बड़ी की वजह से पिगमेंटेशन हो सकता है। यही वजह है कि pregnancy और menopause के दौरान महिलाओं में पिगमेंटेशन होना एक आम बात है।

4. दवाओं के side effects
:-
हार्मोन सप्लीमेंट, मलेरिया और डिप्रेशन की दवाओं के side effects की वजह से hyperpigmentation हो सकता है।

इसके अलावा genetic cause, बढ़ती उम्र, स्किन की dryness भी इसमें contribute करते हैं।

Hypopigmentation के प्रमुख कारण fungal या parasite infection, पोषक तत्वों की कमी, genetic, food allergy, autoimmune disorder, sunburn, chemical allergy हो सकते हैं।


चेहरे की झाइयों के दूर करने के घरेलू उपाय – Best 7 Home remedies for Pigmentation

चेहरे की झाइयों के दूर करने के लिए कई घरेलू नुस्खे भी अपनाएं जा सकते हैं जो हमारी दादी, नानी भी उपयोग करते थे l आइए जानते हैं किन-किन उपाय से आप पिगमेंटेशन कम सकते हैं l

आलू से झाइयों का इलाज:-

आलू को नेचुरल ब्लीचिंग एजेंट कहा जाता है। इसकी वजह है आलू में पाया जाने वाला catecholase enzyme. आलू को काटकर इसका रस प्रभावित हिस्सों पर लगाएं। धीरे-धीरे झाइयां कम होने लगेंगी।


– गाजर और नींबू का रस:-

गाजर का रस निकाल लीजिए। इसमें कुछ बूंदें नींबू का रस मिलाकर झाइयों पर लगाइए। सूखने पर सादे पानी से चेहरा धो लें। गाजर में बीटा कैरोटीन होता है। यह स्किन को चमकदार बनाता है।


– तुलसी और पुदीने का लेप:-

तुलसी और पुदीने की पत्तियों को पीसकर लेप बना लीजिए। इसे चेहरे पर लगाकर सूखने दें। इससे बहुत आराम मिलता है। स्किन को ठंडक भी मिलती है।


– एलोवेरा है जादुई इलाज:-

एलोवेरा हर तरह की स्किन प्रॉब्लम में काम आता है। इसका पल्प स्किन पर लगाने से झाइयों में भी बहुत फायदा होता है।

– हल्दी और कच्चा दूध:-

हल्दी का इस्तेमाल पुराने समय से त्वचा को निखारने के लिए किया जाता है। दो चम्मच दूध में दो चुटकी हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगाएं। यह एक से दो हफ्तों में ही असर दिखा देता है। आप इसे रोज इस्तेमाल कर सकते हैं।


– नीम और नारियल का तेल:-

नीम का तेल UV rays से बचाव करता है। यह melanin production को भी control करता है। तेल की कुछ बूंदें लेकर हल्के हाथों से 15 मिनट मसाज कीजिए और हल्के गुनगुने पानी से साफ कर लीजिए। ऐसे ही गुण नारियल के तेल में भी होते हैं। आप चाहें तो दोनों तेलों को मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

– प्याज का रस:-

प्याज में सल्फर नाम का तत्व पाया जाता है। यह स्किन के बहुत से रोगों में काम आता है। प्याज का एक टुकड़ा pignented area पर रगड़ें। इसे बीस से तीस मिनट रहने दें। फिर धो लें।


Read also:- How to remove dark circles at home – डार्क सर्कल हटाने के उपाय



पिगमेंटेशन के दौरान आपका खान-पान – Diet for Pigmentation Problem

अब हम आपको खान-पान से जुड़ी कुछ जानकारी दे रहे हैं। जो आपको पिगमेंटेशन के दौरान ध्यान रखनी चाहिए।

1. ताजे फलों का सेवन करें:- फलों में कई तरह के विटामिन और मिनरल होते हैं। ये आपकी skin को खूबसूरत बनाते हैं। Citrus fruits जैसे संतरा, मौसमी में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। यह skin को youthful बनाकर रखता है।

2. सादा और ताजा भोजन करें:- हरी पत्तेदार सब्जियां खाएं। अंकुरित आहार और सूखे मेवों का इस्तेमाल करें। इनसे आपको एंटीऑक्सीडेंट मिलते हैं।

3. पानी भरपूर पिएं:- कम पानी पीने से skin dry हो जाती है। धीरे-धीरे अपनी elasticity (लचीलापन) खोने लगती है। और झाइयां उभर आती हैं। झाइयां को कम करने के लिए खूब सारा पानी पिएं

ज्यादा चाय, कॉफी, कोल्ड ड्रिंक, तले हुए, मसालेदार और बासी भोजन से परहेज करें। चीनी और नमक का इस्तेमाल कम करें। प्रोसेस्ड और जंक फूड न खाएं।


पिगमेंटेशन के दौरान परहेज – What to Avoid for Preventing Pigmentation?

स्किन से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं के पीछे आपकी लाइफस्टाइल, मेंटल स्ट्रेस और खान-पान का हाथ होता है। अब हम आपको कुछ छोटे-छोटे परहेज बता रहे हैं। इनसे पिगमेंटेशन की कंडीशन बेहतर हो सकती है।

सोने और जागने का समय फिक्स करें, कम से कम 7-8 घंटे की नींद जरूरी है। सोने के दौरान आपके बाकी शरीर की तरह स्किन के टिशू भी repair होते हैं। सही नींद लेने पर स्किन में glow आता है।

बहुत देर तक धूप में न रहें, अगर किसी वजह से धूप में निकलना आपके लिए जरूरी होता है तो सनस्क्रीन लगाकर निकलें। अपने शरीर को पूरी तरह से cover करके रखें, जिससे धूप सीधे skin पर न लगे।

हार्मोनल समस्या होने पर उसका पूरा इलाज कराएं। योग करें और वजन पर नियंत्रण रखें। ताकि शरीर में hormones का level सही बना रहे।

मेकअप कम से कम करें। मेकअप के लिए हर्बल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें।

जिन हिस्सों में pigmentation है वहां बार-बार खुजली या रगड़ न दें। इससे skin irritation होता है।

धूम्रपान और शराब जैसे किसी भी नशे से दूर रहें।



अक्सर पूछे गए सवाल- FAQS


फेस पर झाइयां क्यों होती है?

झाइयां मेलेनिन में वृद्धि के कारण होती है। मेलेनिन एक natural pigment है जो हमारी त्वचा, बालों और आंखों को उनका रंग देता है। कई कारण है जो मेलेनिन उत्पादन में वृद्धि कर सकते हैं, लेकिन उनमें से मुख्य हैं सूर्य के संपर्क में अधिक आना, हार्मोनल का प्रभाव, उम्र का बढ़ना और त्वचा की चोट या सूजन।


जायफल से झाइयां कैसे जाती है?

जायफल के सबसे आश्चर्यजनक लाभों में से एक यह है कि यह आपके चेहरे पर मलिनकिरण और पिग्मेंटेशन को भी दूर करने की क्षमता रखता है। बढ़ती उम्र के कारण चेहरे पर झुर्रियां और झाइयां हो जाती हैं। जायफल का स्क्रब आपकी झुर्रियों को कम कर सकता है। दो चम्मच दूध और उसी मात्रा में जायफल पाउडर से पेस्ट बना लें। चेहरा धोकर सर्कुलर मोशन में चेहरे पर लगा लें। कुछ ही दिनों में में फर्क नज़र आने लगेगा।


पिंग्मेंटेशन में डॉक्टर से कब सम्पर्क करना चाहिए?

झाइयों की समस्या होने पर इसे अनदेखा ना करें और बिना डॉक्टर की सलाह लिए बाजार में मिलने वाली झाइयों की दवा या क्रीम का प्रयोग ना ही करें। आप पहले घरेलू उपाय आजमाएं और अगर उनसे यह समस्या ठीक नहीं होती है तो डॉक्टर के पास जाकर इलाज कराएं।



Conclusion
हमारी कोशिश रहती है कि आसान शब्दों में आपको सही और पूरी जानकारी दी जाए। इसके लिए हम regularly लाइफस्टाइल, हेल्थ, रेसिपी और आध्यात्म से जुड़े लेख अपने ब्लॉग पर पोस्ट करते रहते हैं। आज का आर्टिकल भी इसी कोशिश का एक हिस्सा था। जिसमें हमने आपको pigmentation से जुड़ी जानकारी दी।



Home remedies बहुत फायदेमंद होती हैं लेकिन हम आपको यह सलाह भी देंगे कि कोई भी घरेलू उपाय आजमाने से पहले problem की गंभीरता, अपनी हेल्थ और मेडिकल कंडीशन का ध्यान रखें। और जरूरत होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें। यह article आपको कैसा लगा कमेंट सेक्शन में बताइएगा।

By:- Nidhi Neer
Lifewingz.com
Image credits:- canva.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.