कोयल – सुभद्रा कुमारी चौहान Cuckoo Poem

 birds poem in hindi

दोस्तों, आज हम हिन्दी साहित्य की प्रसिद्ध कवि Subhadra Kumari Chauhan की hindi kavita “कोयल” लेकर आए है। यह हमारी पहली birds poem in hindi है। इस कविता में कोयल की सुंदरता का वर्णन किया है।

 

देखो कोयल काली है, पर मीठी है इसकी बोली।

इसने ही तो कूक-कूक कर आमों में मिसरी घोली॥

यही आम जो अभी लगे थे, खट्टे-खट्टे, हरे-हरे।

कोयल कूकेगी तब होंगे, पीले और रस भरे-भरे॥

हमें देखकर टपक पड़ेंगे, हम खुश होकर खाएंगे।

ऊपर कोयल गायेगी, हम नीचे उसे बुलाएंगे॥

कोयल! कोयल! सच बतलाओ, क्‍या संदेशा लाई हो?

बहुत दिनों के बाद आज फिर, इस डाली पर आई हो॥

क्‍या गाती हो, किसे बुलाती, बतला दो कोयल रानी।

प्‍यासी धरती देख, माँगती हो क्‍या मेघों से पानी?

या फिर इस कड़ी धुप में हमको देख देख दुःख पाती हो।

इसीलिए छाया करने को तुम बादल बुलवाती हो॥

जो कुछ भी हो तुम्हे देख कर हम कोयल, खुश हो जाते हैं।

तुम आती हो – और न जाने हम क्या – क्या पा जाते हैं॥

नाच – नाच हम उठते नीचे, ऊपर तुम गया करती।

मीठे – मीठे आम रास भरे, नीचे टपकाया करती ॥

उन्हें उठाकर बड़े मजे से, खाते हैं हम मनमाना ।

आमों से भी मीठा है, पर कोयल रानी का गाना ॥

कोयल! यह मिठास क्‍या तुमने अपनी माँ से पाई है?

माँ ने ही क्‍या तुमको मीठी बोली यह सिखलाई है॥

हम माँ के बच्चे हैं, अम्मा हमें बहुत हे प्यारी हैं।

उसी तरह क्या कोई अम्मा कोयल कहीं तुम्हारी हैं?

डाल-डाल पर उड़ना-गाना जिसने तुम्‍हें सिखाया है।

सबसे मीठा-मीठा बोलो! – यह भी तुम्‍हें बताया है॥

बहुत भ‍ली हो, तुमने माँ की बात सदा ही है मानी।

इसीलिए तो तुम कहलाती हो सब चिड़ियों की रानी॥

शाम हुई, घर जाओ कोयल, अम्मा घबराती होंगी।

बार बार वह तुम्हे देखने द्वारे तक आती होंगी॥

हम जाते हैं तुम भी जाओ, बड़े सवेरे आ जाना।

हम तरु के नीचे नाचेंगे, तुम ऊपर गाना गाना॥

– सुभद्रा कुमारी चौहान

दोस्तों ! कविता अगर दिल को छूह जाये, तो शेयर ज़रूर कीजिएगा।

# नई जानकारी के लिए Lifewingz Facebook Page को फॉलो करें    

lifewingz

ये भी पढ़ें:-

1) चेहरे पर चेहरा लगाए घूम रहा है आदमी – Sad poem

2) धरती को स्‍वर्ग बनायें! Save Earth Save Life

3) तू जरा सब्र तो रख! Inspirational Poem In Hindi

4) कैसा ये दौर है आया! Heart Touching Poem in Hindi

5) मत करो खिलवाड़ प्रकृति से! Poem on Prakriti in Hindi


poem by subhadra kumari chauhan

दोस्तों! “कोयल – सुभद्रा कुमारी चौहान Cuckoo Poem आपको कैसी लगी, इस hindi kavita को  शेयर करना ना भूलें और हमारी अन्य Hindi poem, article, motivational story, quotes, thoughts, या inspiring poem इत्यादि पढ़ने के लिए हमें follow ज़रूर करें! 

धन्यवाद!

Image Credits- pixabay

Leave a Reply

Your email address will not be published.