Black Fungus | जानिए, ब्लैक फंगस के कारण, लक्षण और बचाव

black fungus

Fungal infection in hindi में आप पढ़ने जा रहे है, ब्लैक फंगस (black fungus) के बारे में, जैसे की आप सब जानते है कोरोना वायरस की दूसरी लहर के साथ अब लोगों को ब्लैक फंगस संक्रमण हो रहा है। और लोगों को इस संक्रमण की जानकारी नहीं है इसलिए आज के इस लेख में आपको black fungal infection की पूरी जानकारी दी जाएगी।


देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर जारी है। जिससे संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है, ऐसे में एक और नए संक्रमण ने कोविड-19 मरीजों और महामारी से ठीक हो चुके लोगों की चिंता बढ़ा दी है। इस नए संक्रमण को ब्लैक फंगस (black fungus) या म्यूकॉरमाइकोसिस (mucormycosis) के रूप में जाना जाता है। यह संक्रमण गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, बिहार और हरियाणा तक पहुंच चुका है। इस संक्रमण से कई लोगों की जान भी गई है। चलिए जानते है आखिर ब्लैक फंगस है क्या?


ब्लैक फंगस क्या है? – What is black fungus disease?

ब्लैक फंगस, जिसे म्यूकॉरमाइकोसिस (mucormycosis) के रूप में भी जाना जाता है, यह एक गंभीर लेकिन rare fungal infection है।

Indian Council of Medical Research (ICMR) के अनुसार, म्यूकॉरमाइकोसिस (mucormycosis) एक fungal infection है जो मुख्य रूप से उन लोगों को प्रभावित करता है, जो अन्य health problems के लिए दवा ले रहे हैं।   

ब्लैक फंगस ने कई COVID-ठीक रोगियों को वापस ICU में धकेल दिया है। रिपोर्ट के अनुसार, संक्रमण से असहनीय दर्द होता है और यहां तक ​​कि 20-30% संक्रमित व्यक्तियों में अंधापन भी हो जाता है। आंखों की रोशनी का नुकसान तब होता है जब फंगस आंख के अंदर बढ़ता है, जिससे optic nerve संकुचित हो जाती है।


Read also:- Immunity Booster Kadha | इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा


ब्लैक फंगस के लक्षण? – Symptoms of black fungus infection

 ब्लैक फंगस के बहुत सामान्य लक्षण है जैसे:-

– आंखों और नाक के पास दर्द होना।
– आंखों का लाल होना।
– बुखार आना। 
– लगातार सरदर्द होना। 
– खांसी आना। 
– सांस लेने में कठिनाई होना। 
– खून की उल्टी आना।


ब्लैक फंगस के कारण क्या है? – Causes of black fungus

ब्लैक फंगस संक्रमण mucormycosis नामक fungus के कारण होता है। ये फंगल पर्यावरण में प्राकृतिक रूप से मौजूद होते हैं, विशेष रूप से मिट्टी और अन्य सड़ने वाले पदार्थों जैसे सब्ज़ी, फल, ब्रेड, खाने वाले भोजन और जानवरों के गोबर में।

AIIMS Director Randeep Guleria ने कहा कि diabetic, COVID positive और स्टेरॉयड लेने वाले रोगियों में फंगल संक्रमण की संभावना बढ़ जाती है।

यह रोग चेहरे को प्रभावित कर सकता है, नाक को संक्रमित कर सकता है, आंख और मस्तिष्क को प्रभावित कर सकता है, जिससे दृष्टि हानि भी हो सकती है। यह फेफड़ों को भी फैल कर सकता है।


ब्लैक फंगस से कौन संक्रमित हो सकता है?

चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि ब्लैक फंगस संक्रमण – उन लोगों को प्रभावित करता है जो बीमारियों से जूझ रहे हैं इसके साथ ही, low immunity वाले व्यक्ति विशेष रूप से इस फंगल संक्रमण की चपेट में आते हैं। ट्रांसप्लांट और आईसीयू के मरीजों के लिए यह बीमारी मौत का कारण बन सकता है।

म्यूकॉरमाइकोसिस संक्रमण COVID-19 रोगियों में मधुमेह या रक्त शर्करा वाले लोगों में देखा गया है।


Read also:- Home Remedies for Sore Throat | गले में खराश के लिए घरेलू उपचार


ब्लैक फंगल इंफेक्शन कैसे फैलता है?

Mucormycosis संक्रामक रोग कोई नया रोग नहीं है, व्यक्ति जब फंगल बीजाणुओं के संपर्क में आता है तब यह संक्रमण व्यक्ति के अंदर जाता और व्यक्ति संक्रमित होता हैं।

साँस लेने पर यह बीजाणु फेफड़ों या साइनस को संक्रमित कर सकते हैं। फंगस शरीर में कट, खरोंच, जलन या अन्य प्रकार के त्वचा आघात के माध्यम से त्वचा में प्रवेश करता है, और संक्रमण बाद में रक्तप्रवाह में फैल सकता है, और मस्तिष्क, हृदय तक भी पहुंच सकता है।


ब्लैक फंगल से बचाव:-

ब्लैक फंगस से बचने के लिए आपको कुछ निवारक उपाय अपनाने की आवश्यकता है, जिससे आप अपना और अपने परिवार वालों, साथ ही अपने दोस्तों को Black fungas से बचा सकते हैं। 

1.अगर आप कही भी आना-जाना करतें हैं तो आपको विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होगी। हमेशा मास्क को पहने, धूल वाले इलाके में जाते हैं तो रुमाल या मास्क से अपने पूरे चहरे को अच्छे से ढकें।  

2.खेतों या बागवानी में काम करते समय अपने शरीर को अच्छे से कपड़े से ढके, दस्ताने (gloves ) का उपयोग करें।  

3.अपने हाथों को साबुन या सैनिटाइजर से अच्छे से साफ करें।

4. रोज स्नान करें और अपने आस-पास साफ सफाई रखें।

5. त्वचा पर कट या खरोंच को जितनी जल्दी हो सके साबुन और पानी से धोएं और बैंडेज लगाए। 

6. यदि आपको म्यूकॉरमाइकोसिस हो जाता है, तो निर्देशानुसार अपनी दवाएं लें। यदि साइड इफेक्ट समस्या पैदा करते हैं या संक्रमण ठीक नहीं होता है, तो अपने डॉक्टर को तुरंत बताएं।

इस आर्टिकल में आपने जाना ब्लैक फंगस (black fungus) क्या है इसके कारण, लक्षण और इससे कैसे बचा जाए। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ब्लैक फंगस की जानकारी मिल गई होगी। हम पूरी रिसर्च और स्टडी करके आप तक जानकारी लाते हैं। अगर आपको ब्लैक फंगस का कोई भी लक्षण नजर आए तो जल्द ही डॉक्टर को दिखाएं, ताकि जल्दी इलाज शुरू हो सके।


अगर आप वास्तुशास्त्र, रेसिपी, रिलेशनशिप पर कुछ अच्छे articles पढ़ना चाहें, तो हमारा home page visit करें। अगर आपको हमारा काम अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर शेयर करें और हमारा blog subscribe करें।
धन्यवाद।

By:- Meenakshi
Lifewingz.com
Image credits:  canva.comfreepik.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.