कैसा ये दौर है आया! Heart Touching Poem in Hindi

heart touching poem

दोस्तों! आज हम आपके लिए हिंदी कविता “कैसा ये दौर है आया” लेकर आए हैं! जिसमें बताया गया है कि किस तरह से हमे अपने घर में कैद हो कर रहना पड़ रहा है! यह एक heart touching poem है हमे अपने और अपने परिवार की सुरक्षा करने के लिए यह कदम उठाना है! ना खुद बाहर जाना है ना किसी को बाहर जाने देना है!

कैसा ये दौर है आया

आज इंसान घरों में 

जानवर सड़कों पर है,

बिना अपराध किए जेल में है

सोचो आज ऐसा है 

तो कल कैसा होगा,

नहीं रुके तो

कल बर्बाद हो जाएगा

बिना बात के जीवन नष्ट हो जाएगा,

रोक लो खुद को

नहीं तो हमेशा हम इतिहास 

बन कर रह जाएंगे,

धरती हमारी माँ है

माँ ने हमेशा हमे है संभाला,



अब हमारी भारी है

संभाल लो खुद को

नहीं तो माँ को खो दोगे!

दोस्तों ! कविता अगर दिल को छूह जाये, तो शेयर ज़रूर कीजिएगा।

# नई जानकारी के लिए Lifewingz Facebook Page को फॉलो करें    

lifewingz

ये भी पढ़ें:-

1) कोरोना को हराना है! Hindi Mein Poem

2) कर्म का फल! Karm Ka Fal Hindi Poem

3) तू जरा सब्र तो रख! Inspirational Poem In Hindi

4) कठपुतली हिंदी कविता! Kathputli Poem in Hindi

5) मत करो खिलवाड़ प्रकृति से! Poem on Prakriti in Hindi


by Shubhi Gupta ( शुभी गुप्ता )
Story and Poem Writer

दोस्तों! “कैसा ये दौर है आया! Heart Touching Poems in Hindi ” Hindi poem आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूलें और हमारी  अन्य Hindi poem, article, motivational story, quotes, thoughts, या inspiring poem इत्यादि पढ़ने के लिए हमें follow ज़रूर करें! 

धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published.