Tongue Ulcer Home Remedy | जीभ के छालों ने किया है परेशान, घरेलू नुस्खें से करें मिनटों में इलाज

Home remedies for Tongue Ulcer

Tongue Ulcer Home Remedy जीभ के छाले यूं तो बहुत ही सामान्य परेशानी है, लेकिन जब ये होती है तो हमारा खाना-पीना और बात करना मुश्किल कर देती है आज के इस लेख में छालों का इलाज (Home remedies for Tongue Ulcer) दिया गया है। जिसकी मदद से आप आसानी से छालों से छुटकारा पा सकते है।


हैलो दोस्तों, Lifewingz पर आपका स्वागत है। आज हम आपको जीभ पर होने वाले छालों की जानकारी देंगे। जीभ पर छाले हो जाएं तो खान-पान प्रभावित हो जाता है। क्योंकि आप कुछ भी खाते हैं तो वो छालों पर लगकर दर्द करता है। इतना ही नहीं बहुत से ऐसे लोग भी हैं जिनको छालों की टेंडेंसी ही बन जाती है। हालांकि इसके बावजूद लोग अक्सर इनको नजरअंदाज कर देते हैं जो कि सही नहीं है।

अगर आपकी जानकारी में भी किसी को ऐसी समस्या है या आप इस टॉपिक पर पूरी और सही जानकारी चाहते हैं तो ये आर्टिकल आपके बहुत काम आएगा। क्योंकि इसमें आपको जीभ के छालों से जुड़ी A to Z information मिलेगी। यानि जीभ के छाले होने के कारण से लेकर उनसे बचाव तक। बस आपको ये आर्टिकल पूरा पढ़ना होगा।


जीभ के छाले होने के कारणCauses of Tongue Ulcer

जीभ पर छाले होने के प्रमुख कारणों में poor nutrition and immunity, piping hot भोजन करना, बहुत ज्यादा खट्टी या acidic चीजें खाना, तेज मिर्च-मसालेदार भोजन, तंबाकू और गुटके का सेवन, smoking, constipation, bacterial या viral infection, मुंह की सफाई न रखना, hormonal changes, तनाव और किसी दवाई से एलर्जी होना आते हैं।

इनके अलावा कुछ ऐसे कारण भी हैं जो खुद oral cavity से जुड़े हैं। जैसे denture या braces का सही तरह से फिट न होना, दांतों की प्राकृतिक बनावट टेढ़ी-मेढ़ी होना, किसी एक दांत का sharp होना या फिर vigorous brushing करना। इन कारणों से जीभ में friction होता है, जीभ कटती रहती है और छाले होते रहते हैं।


Read also:- Teeth Whitening at Home| दांतों के पीलापन को हटाने के 5 आसान उपाय


जीभ के छाले होने के लक्षण – Symptoms of Tongue Ulcer

जीभ के छालों को देखकर आसानी से पहचाना जा सकता है। इसके कुछ प्रमुख लक्षण इस तरह हैं-
• जीभ पर और उसके किनारों पर छोटे-छोटे लाल दाने होना
• सलाइवेशन बढ़ जाना
• भोजन करते हुए दर्द और जलन होना
• मुंह से दुर्गंध आना
• चिड़चिड़ापन
• भूख कम लगना
• हल्का बुखार
• बात करते समय जीभ पर दर्द होना


जीभ के छाले ठीक करने के घरेलू उपाय – Home remedies for Tongue Ulcer

छाले आमतौर पर एक हफ्ते में खुद ठीक हो जाते हैं। लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि आप लापरवाही बरतें। क्योंकि मामूली लगने वाली परेशानी भी बड़ी बन सकती है। Luckily जीभ के छालों के इतने ज्यादा complications नहीं होते। और आप कुछ आसान घरेलू उपायों की मदद से अपनी suffering कम कर सकते हैं।

1. गुनगुना पानी और नमक- एक गिलास गुनगुने पानी में एक छोटा चम्मच सेंधा नमक मिलाकर कुल्ला करें। नमक सूजन को कम करता है और इन्फेक्शन होने के चांस भी कम कर देता है। सेंधा नमक न मिले तो table salt use करें।

2. लौंग का तेल- लौंग में eugenol नाम का तत्व होता है। जो anti inflammatory और pain killer होता है। छालों पर cotton bud की मदद से लौंग का तेल लगा लें और 5 मिनट बाद सादे पानी से कुल्ला कर लें। लौंग का तेल काफी strong flavour वाला होता है। इस वजह से मामूली irritation हो सकती है। वैसे तो ये कुछ सेकंड में चली जाती है। लेकिन अगर आपको ये उपाय सूट नहीं करता है तो आगे और भी बहुत से उपाय दिए गए हैं।

3. शहद- शहद natural anti-inflammatory होता है। इसमें anti-oxidants और immunity booster होते हैं। इन सब गुणों की वजह से शहद छालों के लिए बहुत फायदेमंद है। आपको जरा सा शहद प्रभावित हिस्सों पर लगा कर तीन से चार मिनट रखना है। इस उपाय से बिल्कुल भी irritation नहीं होता है। आप इसे दिन में तीन से चार बार आराम से कर सकते हैं। अगर खाना खाते हुए या बोलते हुए आपकी जीभ कट जाती है तो भी शहद लगाने से बहुत आराम आ जाता है।

4. बर्फ की सिंकाई- जिस तरह आपको बर्फ की ट्रे या bowl हाथ में लेने भर से ठंडक मिल जाती है, उसी तरह छालों पर भी बर्फ लगाने से बड़ा आराम मिलता है। एक छोटा सा टुकड़ा अपने मुंह में रख लीजिए। ये कुछ देर में अपने आप घुल ही जाएगा। इससे दर्द या जलन में instant राहत मिलती है क्योंकि ये affected area को कुछ देर के लिए numb कर देता है।

5. घी का इस्तेमाल- घी पिघला लें। जब यह छूने लायक ठंडा हो जाए तो cotton bud की मदद से छालों पर लगाएं। अब मुंह खुला रहने दें। एक से दो मिनट में salivation बढ़ जाता है। इस पूरे saliva को गिरने दें। अब हल्के गुनगुने पानी से दो-तीन बार कुल्ला कर लें। ताकि मुंह में घी का अंश न रहे। ये बुजुर्गों का आजमाया हुआ तरीका है। दिन में दो बार ये उपाय कीजिए। तीसरे दिन से फर्क नजर आने लगेगा। घर का बना शुद्ध घी हो तो बेस्ट है। घी की जगह आप मक्खन भी लगा सकते हैं।

6. तुलसी और एलोवेरा पेस्ट- एक चम्मच एलोवेरा जेल और चार-पांच तुलसी की पत्तियां मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे छालों पर लगाकर 5-7 मिनट रहने दें। अब कुल्ला कर लें।

7. ग्लिसरीन और हल्दी- इन दोनों को बराबर मात्रा में लेकर पेस्ट बनाएं और छालों पर लगाकर सूखने दें। अब कुल्ला कर लें। ग्लिसरीन छालों की rough ages को smoothen करता है। हल्दी दर्द को कम करने और घाव जल्दी भरने में मदद करती है। इसे दिन में दो बार लगा सकते हैं।


Read also :- Home Remedies for Sore Throat | गले में खराश के लिए घरेलू उपचार



जीभ के छाले से बचने के उपाय – Prevention Tips for Tongue Ulcer

ऐसे बहुत से आसान तरीके हैं जिनसे आप छालों से बच सकते हैं। जैसा आपने ऊपर पढ़ा कि छालों का मुख्य संबंध हमारे खान-पान, पोषण और स्वास्थ्य से होता है। इसलिए ये बहुत जरूरी है कि आप इन सब बातों का ध्यान रखें।

आपका खान-पान सादा और कम मिर्च-मसालेदार होना चाहिए। वैसे भी ज्यादा oily और spicy खाने को health के लिए अच्छा नहीं कहा जाता है।

आपको अपने पोषण यानि nutrition पर ध्यान देना भी जरूरी है। आपने नोटिस किया होगा कि छाले होने पर डॉक्टर बी कॉम्प्लेक्स की टेबलेट लिख देते हैं। ताकि इसकी कमी दूर हो जाए और छालों से राहत मिले। पर हम ऐसी कमी होने ही क्यों दें? आप ऐसा भोजन लीजिए जो बी कॉम्प्लेक्स ग्रुप के तत्वों से भरपूर हो। जैसे केला, ब्राउन राइस, हरी सब्जियां, अंकुरित अनाज, आयरन कंटेंट वाली चीजें जैसे पालक, ब्रॉकली, ऑलिव और सोयाबीन। नॉन वेजिटेरियन लोग अंडा और फिश ले सकते हैं।

Oral hygiene यानि मुंह की साफ-सफाई का ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है। रात को सोने से पहले ब्रश जरूर करें। माउथवॉश का इस्तेमाल करें और कुछ भी खाने-पीने के बाद कुल्ला करें। Soft या ultra soft toothbrush का इस्तेमाल करें।

छालों की एक वजह constipation भी है। इसके लिए ऊपर बताया आहार आपकी मदद करेगा। इसके साथ-साथ आप पपीता, खीरा, बीन्स भी अपने भोजन में शामिल कीजिए। भरपूर पानी पीते रहना भी बहुत जरूरी है। इससे आपकी intestines की activity सही रहती है।

तनाव से दूर रहें। इसके लिए आप ध्यान और योगाभ्यास कर सकते हैं।

यदि आप लंबे समय से किसी बीमारी की दवाई खा रहे हैं तो हो सकता है कि उसके रिएक्शन से भी छाले होते हों। इसके लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

गुटका, तंबाकू या स्मोकिंग की आदत छोड़ दें।


Conclusion:-
फ्रेंड्स आज आपने जाना जीभ के छालों के कारण और घरेलू उपायों के बारे में। हमें उम्मीद है कि आपको वो सब जानकारी मिल गई होगी जो आप चाहते थे।

हम जो भी जानकारी आप तक लाते हैं वो कई सोर्स से जुटाई गई होती है। और हमारी कोशिश रहती है कि आप तक सही और पूरी जानकारी पंहुचे। फिर भी हम ये बताना जरूरी समझते हैं कि आप कोई भी उपाय आजमाने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। दरअसल सबकी body, cause of disease और body response अलग-अलग होता है। इसलिए ये जरूरी नहीं है कि एक ही उपाय सबको सूट करे। हम हमेशा एक बात कहते हैं कि हमारे द्वारा दी गई कोई भी जानकारी डॉक्टर की सलाह से ऊपर कभी नहीं है।



अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और फैमिली के साथ शेयर करें। आप हमारा होम पेज जरूर विजिट करिए। वहां आपको बहुत से अच्छे आर्टिकल पढ़ने को मिलेंगे। अगर हमारा काम आपको पसंद आए तो आप हमें subscribe कर सकते हैं।

ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइए। अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो आपका स्वागत है।

By:-Nidhi Neer
Lifewingz.com
Image credits: canva.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.