Home Remedy for Cough | खांसी के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय

Lifewingz.com में आपका स्वागत है। आज के इस article में आप जानेंगे, खांसी के के बारे में (cough treatment at home) हम आपके लिए खांसी से जुड़ी पूरी जानकारी जैसे खांसी के कारण, खांसी के लक्षण और खांसी के घरेलू इलाज (home remedies for cough) लेकर आए हैं।



खांसी का अनुभव आप सबने किया होगा। इससे न केवल बड़े-बुजुर्ग बल्कि छोटे बच्चे भी प्रभावित होते हैं। अगर खांसी को मामूली समझकर ध्यान न दिया जाए तो ये बहुत serious हो सकती है। इसलिए ये article आपको जरूर पढ़ना चाहिए ताकि आप भी इससे बच सकें। आज के आर्टिकल में आप जानेंगे


खांसी क्या है? – What is Cough ?

सबसे पहले ये समझते हैं कि खांसी क्या है? खांसी body का defence action है। जब हमारे respiratory system में कोई चीज रूकावट बनती है तो शरीर खांसी की मदद से उसे बाहर निकालने की कोशिश करता है। ऐसे में आप एक-दो बार खांसते हैं और आपका system clear हो जाता है। ये एक natural process है जो हमारे लिए जरूरी है। लेकिन कई बार खांसी लगातार बनी रहती है और इसकी वजह कोई बीमारी होती है। इसे ignore न करते हुए समय पर इलाज जरूरी है। आगे आने वाले sections में आप ये सारी details जानेंगे


खांसी के प्रकार – Types of Cough

खांसी के प्रकार जानना जरूरी है। खांसी के दो प्रकार हैं। सूखी खांसी (dry cough) और बलगम वाली खांसी (wet cough). इसके अलावा duration के हिसाब से इसे Acute और Chronic cough भी कहा जाता है। आपने whooping cough का नाम भी सुना होगा। किसी जमाने में इससे बहुत लोग प्रभावित होते थे पर vaccination से इस पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है।

खांसी के कारण – Causes of Cough

खांसी के कारण निम्न हो सकते हैं
• Infections जैसे सर्दी, जुकाम या flu, throat infection, bronchitis, laryngitis, pharyngitis
• Respiratory tract disease जैसे Tuberculosis, Pneumonia, Asthma, Pneumoconiosis, Lung cancer
• Smoking
• Pollution
• Acid reflux
• Psychological
तो देखा आपने खांसी के कारण कितने सारे हो सकते हैं।


खांसी के लक्षण – Symptoms of Cough

खांसी का सबसे पहला लक्षण तो यही है कि आपको बार-बार खांसी आने लगती है। अगर बलगम वाली खांसी है तो बलगम भी निकलता है। बार-बार खांसने से सीने और गले में दर्द होने लग जाता है। अगर सर्दी-जुकाम या throat infection जैसी वजहों से खांसी आए तो आंखों और नाक से पानी बहना, छींके आना जैसे लक्षण भी होते है। यदि बलगम ज्यादा जम जाती है तो सांस लेने में घड़घड़ाहट और तकलीफ भी हो सकती है। कभी-कभी खांसते हुए खून भी निकलता है। ये खांसी के लक्षण हैं जो आम तौर पर देखने को मिलते हैं। खांसी के कारण के अनुसार इनमें थोड़े-बहुत अंतर हो सकते हैं।

खांसी के घरेलू इलाज – Home Remedies for Cough

अब आपको बताते हैं खांसी के घरेलू इलाज – Home Remedies for Cough in Hindi. आपके घर पर ही ऐसी बहुत सी चीजें मौजूद हैं जो खांसी के घरेलू इलाज में काम आएंगी।

1. शहद और अदरक- अदरक का रस और शहद बराबर मात्रा में मिलाकर दिन में तीन बार एक-एक चम्मच लें। इससे सूखी खांसी में बहुत आराम मिलता है।

2. मुलैठी- एक छोटा टुकड़ा मुलैठी मुंह में रखकर चूसने से खांसी में आराम आता है।

3. काली मिर्च और तुलसी- इनका काढ़ा बनाकर पीने से खांसी में राहत मिलती है।

4. कच्ची हल्दी है फायदेमंद – हल्दी एक बेहतरीन एंटीसेप्टिक, एंटीवायरल और एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट है जो आपके शरीर को किसी भी संक्रमण से उबरने में मदद करता है। इसमें कर्क्यूमिन होता है जो खांसी को कम करने में मदद करता है। आप अपनी चाय, गर्म पानी या दूध में आधा चम्मच हल्दी मिला सकते हैं, बेहतर परिणाम के लिए आप इसमें 2-3 काली मिर्च के बीज भी मिला सकते हैं।

5. अनानास – यह बलगम वाली खांसी में फायदा करता है।

6. पुदीने की पत्तियां – पुदीने की पत्तियों में मेन्थॉल होता है जो गले की नसों को सुन्न करता है और बलगम को कम करने में मदद करता है। खांसी की समस्या को कम करने के लिए दिन में 2-3 बार पुदीने की चाय का सेवन करें।

7. सरसों के तेल – सरसों के तेल को गुनगुना करके नमक मिलाकर सीने की मालिश करें।

8. भाप लें – बलगम वाली खांसी होने पर भाप लेना बहुत फायदेमंद है।


खांसी में खान-पान – Diet in Cough Disease

अब आपको खांसी में खान-पान, खांसी में परहेज और खांसी से बचाव (prevention tips for cough in Hindi) बताते हैं। आपको खांसी में खान-पान ऐसा रखना चाहिए जो आपके गले को तकलीफ न पंहुचाए। आप घर का बना पौष्टिक और सादा खाना खाएं। बाहर का खाना बंद करें। मौसमी फलों का इस्तेमाल करें। इनसे आपकी इम्यूनिटी बढ़ती है। पानी room temperature का पिएं। यदि आप मांसाहार करते हैं तो चिकन सूप जरूर पिएं। शाकाहारी लोग सब्जियों का सूप लें। अदरक की चाय पिएं। यदि आप खांसी में खान-पान का ध्यान रखते हैं तो जल्दी ठीक हो सकते हैं।

खांसी में परहेज – Avoid These in Cough

खांसी में परहेज रखना बहुत जरूरी है। अगर खांसी में परहेज न किया जाए तो दवाई भी सही तरह असर नहीं करती।
• ठंडी चीजें जैसे आइस्क्रीम, ठंडा पानी, कोल्ड ड्रिंक से दूर रहें।
• ज्यादा मिर्च-मसालेदार भोजन न करें। गर्म और ताजा खाना खाएं।
• साफ-सफाई का ध्यान रखें।
• धूम्रपान और शराब से दूर रहें।
• कफ सिरप या खांसी की किसी दवाई का इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह न करें।
• खांसी में धूल और धुएं से परहेज रखें।

खांसी के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

यदि किसी मौसमी बीमारी, सर्दी-जुकाम या प्रदूषित वातावरण के कारण खांसी आ रही हो तो वो घरेलू उपचार और सावधानी बरतने से एक हफ्ते के अंदर ठीक हो जाती है। यदि इससे ज्यादा वक्त हो जाए, आपको तेज बुखार हो, सांस लेने में तकलीफ हो, खांसी के साथ खून आए, प्रेग्नेंसी हो या आपको पहले से ही कोई गंभीर बीमारी हो तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। कोरोना के बढ़ते cases में तो ये और भी जरूरी है कि आप कोई लापरवाही न बरतें और खांसी के लिए तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

खांसी से बचाव – Prevention Tips For Cough in Hindi

आपने खांसी के प्रकार, कारण, खांसी के लक्षण और खांसी का घरेलू उपचार ऊपर के सेक्शन्स में पढ़ लिया। कितना अच्छा रहेगा अगर आपको खांसी से बचाव के रास्ते मालुम हों ताकि आपको ये परेशानी उठानी न पड़े। आइये जानते हैं Prevention Tips For Cough in Hindi

• दिन में एक बार नमक मिले गुनगुने पानी से गरारे करें।
• सर्दी के मौसम में टोपी, मफलर, स्कार्फ जरूर पहनें ताकि ठंडी हवा आपके सर और कानों को न लगे।
• गर्मी में बाहर से आने के तुरंत बाद ठंडा पानी न पिएं। न ही AC के सामने बैठें।
• बरसात के मौसम में अदरक, दालचीनी और तुलसी डालकर चाय बनाएं।
• नियमित रूप से प्राणायाम का अभ्यास करें।
• यदि किसी को सर्दी-जुकाम या खांसी है तो उनसे दूरी बनाकर रखें।
• अगर आपको किसी चीज से एलर्जी है तो उसे avoid करें।


Conclusion
हम उम्मीद करते हैं खांसी के घरेलू उपचार- Home Remedies for Cough in Hindi पढ़कर आपको बहुत से सवालों का जवाब मिल गया होगा। अगर आप और कुछ जानना चाहें तो कमेंट सेक्शन में आपका स्वागत है। हमारे होम पेज पर आपको हेल्थ, धर्म-आध्यात्म, रेसिपी, शायरी से जुड़े बहुत से interesting articles मिलेंगे। आप जरूर पढ़िए। हम अपने ब्लॉग पर इसी तरह की नई जानकारी देते रहते हैं। अगर आप भी अपडेटेड रहना चाहें तो हमें subscribe कीजिए। इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें।


Disclaimer
हमने इस आर्टिकल में आपको scientific और medically correct जानकारी देने की पूरी कोशिश की है। ऊपर बताई गई सारी information, medical books और health updates पर based है। फिर भी हम आपसे कहना चाहेंगे कि आप कोई भी घरेलू उपचार करने से पहले अपने विवेक से काम लें। हर इंसान की body requirements, cause of disease और symptoms अलग होते हैं और इस वजह से एक ही home remedy का असर सब पर अलग हो सकता है। कोई भी घरेलू उपाय डॉक्टर के consultation का alternative नहीं है।

By:-Nidhi Neer
Lifewingz.com
Image credits:  canva.com, freepik.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.