Skip to content

Funny Horror Story in Hindi — भूत और पहलवान का डंडा

    Horror Story in Hindi

    Horror Story in Hindi: आज की horror story मज़ेदार वाली भूत की कहानी है। आपको यह ghost story in hindi पढ़कर बहुत मज़ा आएगा। चलों पढ़ना शुरू करते है।



    बहुत पुरानी बात है एक गाँव में एक पहलवान रहा करता था वह बहुत ही बलशाली था और एक ही बार में कम से कम 10 लीटर दूध पी जाया करता था उसकी शक्ति के बारे में केवल गांव को ही नहीं बल्कि राज्य के राजा को भी पता था।

    पहलवान के अंदर एक ही अवगुण था वह यह था कि वह हर व्यक्ति से एक ही सवाल पूछता कि उसका विवाह कहा और किससे होगा, और जो कोई उसका जवाब ना दे पाता वह उसको बहुत मारता था इसलिए लोग उसके पास जाने से बहुत डरते थे, एक बार की बात है दूसरे गांव का नाई वहां से गुज़र रहा था। उस नाई को पहलवान के बारे में मालूम नहीं था। पहलवान ने नाई को पकड़ लिया और उसको बोलने लगा, “मुझे बताओ कि मेरा विवाह किस से और कहाँ होगा, नहीं तो मैं तुम्हें मारूंगा और अगर तुमने मुझे बता दिया तो मैं अपनी सारी गाय बैल तुम्हें दे दूँगा।” नाई बेचारा बड़ा परेशान हुआ लेकिन वह समझ गया कि पहलवान पूरी तरह से मूर्ख है इसलिए उसने पहलवान से कहा, “सामने जो ताड़ का पेड़ देख रहे हो वही होगा तुम्हारा विवाह उसी के नीचे तुम्हारा ससुराल है।” पहलवान बड़ा खुश हुआ और उसने अपनी सारी गाय बैल नाई को दे दी और खुद ताड़ के पेड़ की तरफ चल दिया।

    जब पहलवान ताड़ के पेड़ के पास पहुंचा तो उसने देखा कि ताड़ के पेड़ के नीचे एक छोटी सी झोपड़ी है जिसमें एक औरत अपने बच्चे के साथ बैठी हुई है वह सीधे बिना किसी से कुछ पूछे झोपड़ी में चला गया, औरत ने सोचा शायद ये मेरे पति का कोई पुराना मित्र है, इसलिए उसने उसे हाथ धोने के लिए पानी दिया पहलवान ने जब गिलास में दूध के बदले पानी देखा तो उसे बड़ा गुस्सा आया और उसने उस औरत के मुंह पर एक तमाचा जड़ दिया, औरत बड़ी हैरान हुई और बाहर जाकर रोने लगी, थोड़ी देर में औरत का पति भी आ गया और औरत से उसके रोने का कारण पूछने लगा औरत ने कहां, “ना जाने कहां से तुम्हारा कोई जाहिल मित्र आया है जिसने बिना कारण ही मेरे मुंह पर तमाचा मार दिया है।” यह सुनकर उस आदमी को बड़ा गुस्सा आया और उसने अंदर जाकर पहलवान से कहा, ”तुम कौन हो और तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरी पत्नी को तमाचा मारने की” पहलवान ने आव देखा न ताव पास रखा डंडा उठाया और धड़ाम से उस आदमी के सर पर मार दिया आदमी वहीं मर गया।” जब आदमी की बीवी रोने लगी तो वह बोला कि रो मत मैं ही तुम्हारा पति हूं और हम लोग मिलकर इस घर में रहेंगे मुझे एक बहुत बड़े ज्योतिषी ने बताया है कि ताड़ के पेड़ के नीचे ही मेरे ससुराल है।


    Read also:- Horror Story in Hindi – भूतिया कुर्सी की कहानी – Bhoot ki Kahani 2022



    औरत बेचारी रो रो कर चुप हो गई क्योंकि उसके पास कोई दूसरा रास्ता नहीं था कुछ दिनों तक आराम से रहने के बाद घर का राशन पानी सब खत्म हो गया तो औरत ने पहलवान से कहा कि तुम कुछ काम भी करोगे या घर में ही पड़े रहोगे पहलवान ने अपनी जिंदगी में कभी भी कोई काम नहीं किया था, उसने औरत से पूछा कि मैं क्या काम कर सकता हूँ औरत ने कहा जाओ राजा से कुछ जमीन मांग लो और खेतीबाड़ी करो ताकि हम लोग पेट भर के खाना खा सके पहलवान अपना डंडा उठाकर महल की ओर चल दिया, जब सैनिकों को पता चला कि पहलवान इस तरफ़ आ रहा है तो उन्होंने राजा को इसकी सूचना दी, “राजा ने मंत्री से कहा, यह पहलवान बड़ा ही ताक़तवर और मूर्ख है इसे यहां ज्यादा देर रहने की जरूरत नहीं है इसलिए वह जो भी मांगता है उसे दो, और यहां से चलता करो।”

    पहलवान ने महल में पहुँचकर राजा से मिलने की इच्छा जाहिर की, किंतु मंत्री ने कहा, “तुम्हें क्या चाहिए मुझे बताओ राजा का स्वास्थ्य अच्छा नहीं है।” पहलवान ने कहा मुझे एक अच्छी सी ज़मीन चाहिए जिस पर खेती-बाड़ी करके मैं अपने परिवार का पेट पाल सकूँ।

    मंत्री ने पहलवान को मूर्ख समझ कर शमशान घाट के पास बंजर बड़ी ज़मीन को पहलवान के नाम कर दिया। पहलवान खुशी-खुशी अपने घर वापस आ गया और अगले ही दिन से ज़मीन को जोतने के काम के लिए चल दिया उसने देखा कि उसको दी गई ज़मीन पर एक बहुत बड़ा पीपल का पेड़ है। उसे लगा कि पीपल के पेड़ की वजह से बहुत ज्यादा ज़मीन खराब हो रही है और वह पीपल के पेड़ को काटने लगा जब वे पीपल के पेड़ पर जोर जोर से वार कर रहा था तो उसमें रहने वाले कई भूत पेड़ से उतर कर नीचे आ गए और उसके ऊपर आक्रमण कर दिया, भूतों को पहलवान के बल के बारे में कुछ भी नहीं पता था पहलवान ने सभी भूतों की बहुत पिटाई करी किसी का हाथ किसी की नाक किसी का सिर सब टूटे-फूटे नजर आ रहे थे आखिरकार उन्होंने कहा कि पहलवान साहब हम आपके सामने हाथ जोड़ते हैं आप इस पीपल के पेड़ को मत काटिए हम यहां रहते हैं इसके बदले में आप जो भी चाहेंगे हम करेंगे।

    यह सुनकर आलसी पहलवान को तो बड़ा ही मजा आ गया उसने कहा, “ठीक है आज के बाद से मेरे घर का पूरा राशन तुम लोग पहुँचाओगे, अगर तुम ऐसा करोगे तो मैं ये पेड़ कभी नहीं काटूँगा बल्कि तुम्हारी रक्षा करुंगा।”

    भूतों ने पहलवान की बात स्वीकार कर ली, और बहुत मेहनत करके हर महीने पहलवान के घर राशन पानी पहुंचाने लगे जिसके कारण वे बहुत ही दुबले पतले हो गए, एक बार भूतों का गुरु वहां आया और जब उसने चेले भूतों का यह हाल देखा तो उसने बड़े गर्व से कहा, “मैं पहलवानों से इसका बदला लूंगा, भूतों के लाख मना करने पर भी वह पहलवान के घर एक कुत्ते के रूप में पहुंच गया और जोर जोर से भौकने लगा उसने सोचा कि, जैसे ही पहलवान मुझे मारने बाहर आएगा मैं उसे काट लूँगा।”

    लेकिन पहलवान ने अंदर से ही अपना डंडा जोर से चलाया जो कि कुत्ते के रूप में आए गुरु की कमर पर जोर से लगा और उसकी कमर टूट गई, ”हाय हाय चिल्लाता हुआ” वह अपने असली रूप में आ गया और पहलवान से माफी मांगने लगा उसके बाद से पहलवान के घर कभी खाने पीने की कमी नहीं हुई और मुर्ख पहलवान अपनी ताकत के बल पर लाखों भूतो को अपना गुलाम बना कर आराम से अपना जीवन बिताने लगा।


    Image Credit:- Canva

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.