अनकही बातें (Ankahi baatein) Hindi kavita

life poem in hindi

दोस्तों, आज की हमारी यह hindi poem हम सब औरतो की जिन्दगी पर ( hindi poems on life ) आधारित है इस हिंदी कविता में हमारी अनकही बातें (Ankahi baatein) लिखी है इस short hindi poems में कवि ने बढ़ी सरलता से अपने मन के भावों को प्रकट करा है!

एक समय वो था 

जब खाना भी मम्मी ही अपनेFamily: Woman, Girl, Girl on Google हाथों से खिलाती थी,

एक समय ये है जब खाना भी नसीब नहीं होता

एक समय वो था जब कोई चिंता नहीं थी

एक समय ये है जहांPerson Facepalming on Facebook बस चिंता ही चिंता है,

एक समय वो था जब बिना कुछ बोले सब कुछ मिल जाता था

एक समय ये है कि कितना भी जतन कर लें एक चीज़ लेने के लिए महीनों लग जाते है,

समय समयWoman Pouting on Apple की बात है

इस समय को यू ना जाने दो

चला गया ये तो ये पल यहीं खो जाएगा,

आने वाला समय इस पल को खा जाएगा

जी लो इस समय को क्युकी कल तो किसी ने देखा नहीं

और जो कल हो गया Woman Shrugging on Apple iOS 13.3उसे कोई बदलने वाला नहीं!

दोस्तों ! कविता अगर दिल को छूह जाये, तो शेयर ज़रूर कीजियेगा। 

ये भी पढ़ें:-

1) समय बदलता है! Time Poem in Hindi

2) ए खुदा तेरी कैसी खुदाई! Sad Poems in Hindi

3) हाँ जी मैं हूँ अखबार – Poem on Newspaper

4) कठपुतली हिंदी कविता! Kathputli Poem in Hindi

 

by Shubhi Gupta ( शुभी गुप्ता )
Story and Poem Writer
दोस्तों! “अनकही बातें (Ankahi baatein)” Hindi kavita आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूलें hindi poems on nature और हमारी  अन्य Hindi poem, article, motivational story, quotes, thoughts, या inspiring poem इत्यादि पढ़ने के लिए हमें follow ज़रूर करें!
 
धन्यवाद!

Image Credits- pixabay

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.