Skip to content

PM Solar Panel Yojana | प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना 2024

PM Solar Panel Yojana 2024

PM Solar Panel Yojana in Hindi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या से लौटने के बाद किया एक बड़ा ऐलान, उन्होंने कहा कि उनकी सरकार एक करोड़ घरों पर रूफटॉप सोलर पैनल लगाने के लक्ष्य के साथ “प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना” शुरू करेगी, जिसे अंग्रेजी में Pradhan Mantri Solar Panel भी कहते हैं। इस योजना के तहत, सरकार घरों पर सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी भी प्रदान करेगी।

आप चाहे तो PM योजना के अंतर्गत PM Vishwakarma Yojana in Hindi में भी पढ़ सकते हैं।

 22 जनवरी को अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के बाद, पीएम नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में लौटते ही ‘Solar Panel Yojana’ की घोषणा की। इस योजना के अंतर्गत, केंद्र सरकार देशभर में लगभग एक करोड़ घरों पर रूफटॉप सोलर सिस्टम लगाएगी।   

प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना (Pradhan Mantri Suryoday Yojana) घरों की छतों पर सोलर पैनल लगाने की योजना है। इससे उन लोगों को मदद मिलेगी जिनके पास ज्यादा पैसा नहीं है और मध्यम वर्ग के लोगों को अपने बिजली बिल पर पैसे बचाने में मदद मिलेगी। इससे भारत को ऊर्जा के लिए दूसरे देशों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

PM Solar Panel Yojana: आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के घरों में रूफटॉप सोलर लगाए जाएंगे। 

इस योजना के अंतर्गत सरकार गरीब लोगों के घरों पर सोलर पैनल लगाकर उन्हें आर्थिक रूप से सहायता करेगी। इससे उनकी खुद की बिजली की जरूरत पूरी होगी और वे अतिरिक्त बिजली बेचकर इनकम भी कमा सकते है। इस योजना का ऐलान करते ही प्रधानमंत्री मोदी ने एक कैंपेन करके इसमें ज्यादा लोगों को जोड़ने को कहा है।   

क्या होता है रूफटॉप सोलर पैनल?

रूफटॉप पर स्थापित किए जाने वाले सोलर पैनल घर की छत पर लगाए जाते हैं। इन पैनलों में सोलर की प्लेट लगी होती है। यह एक ऐसी प्रौद्योगिकी है जो सूर्य की किरणों में से ऊर्जा प्राप्त करके बिजली उत्पन्न करती है। पैनल में फोटोवोल्टिक सेल्स लगे होते हैं जो सौर ऊर्जा को बिजली में बदलते हैं। यह उत्पन्न बिजली पावर ग्रिड से आई बिजली के समान काम करती है।

सोलर पैनल लगाने का खर्च कितना है?

सौर पैनलों का उपयोग सूर्य से बिजली बनाने के लिए किया जाता है। सोलर पैनल से बिजली बनाने की कीमत पैनल के हिस्सों पर निर्भर करती है। एक छोटा सोलर पैनल लगाने में 45,000 रुपये से 85,000 रुपये तक का खर्च आ सकता है। बैटरी की भी कीमत होती है। बड़ा सोलर पैनल लगाने में 2,25,000 रुपये से 3,25,000 रुपये तक का खर्च आ सकता है। लेकिन, अगर आप सोचें कि आप हर महीने बिजली पर कितना पैसा खर्च करते हैं, तो 5-6 वर्षों के बाद, सौर पैनल अपने लिए भुगतान कर देंगे और आपका बिजली बिल शून्य हो जाएगा।

सोलर पैनल सिस्टम लगाने के फायदे क्या है?

– घर पर सौर पैनलों का उपयोग करने से बिजली बनाने में मदद मिल सकती है।

– इसमें पैसे कम लगते हैं और बिजली कंपनी की बिजली की तुलना में इसका उपयोग करना आसान है।

– सोलर पैनल के लिए अलग से जगह की जरूरत नहीं, छत पर टांग सकते हैं।

– सोलर पैनल के लिए सरकार सब्सिडी देती है, जिससे खरीदना आसान होता है।

– एक सोलर पैनल बिना मरम्मत या देखभाल के 25 साल तक चल सकता है।

– इसे नियमित अंतराल पर साफ करना चाहिए, ताकि सोलर पैनल सही ढंग से सूर्य की किरणों को पकड़ सके।  

इस योजना के सफल होने के लिए निम्नलिखित कारकों पर ध्यान देना आवश्यक है:

सब्सिडी: सरकार को सोलर पैनल की लागत को कम करने के लिए सब्सिडी प्रदान करना जारी रखना चाहिए। इससे अधिक से अधिक लोग सोलर पैनल लगाने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

तकनीकी विकास: सोलर पैनल की लागत और दक्षता में कमी के लिए तकनीकी विकास की आवश्यकता है। इससे सोलर ऊर्जा अधिक किफायती और आकर्षक बनेगी।

सार्वजनिक जागरूकता: सोलर ऊर्जा के लाभों के बारे में सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने की आवश्यकता है। इससे अधिक से अधिक लोग सोलर पैनल लगाने के लिए प्रेरित होंगे।

निष्कर्ष:

सोलर पैनल योजना, जिसमें एक करोड़ घरों की छतों पर लगाए जाएंगे सोलर पैनल, बहुत महत्वपूर्ण है। इस योजना के माध्यम से भारत की ऊर्जा सुरक्षा, पर्यावरण और अर्थव्यवस्था में सुधार किया जा सकता है। लेकिन इसके सफल होने के लिए सरकार को सब्सिडी, तकनीकी विकास और सार्वजनिक जागरूकता पर ध्यान देना होगा। 

Source:   btbazaar

Author

  • Lifewingz

    Lifewingz.com भारत की एक ऑनलाइन पत्रिका है। जो स्वास्थ्य, फिटनेस, योग, प्रेरक लेख, जीवन शैली लेख, रोचक तथ्य, आध्यात्मिक दर्शन,धार्मिक और मनोरंजन की हिंदी भाषा में जानकारी प्रदान करता है। हमने समृद्ध और सदाबहार विषय देने पर ध्यान केंद्रित किया जो हिंदी रीडर के लिए उपयोगी हो। हमारा उद्देश्य सरल हिंदी और सामान्य शब्दों में आवश्यक जानकारी प्रदान करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *