गणतंत्र दिवस पर कविता – Poem on Republic Day

Poem on Republic Day

Poem on Republic Day में आप पढ़ेंगे आज की हिंदी कविता जोकि 26 January पर लिखी गई है। इस short republic day poem में गणतंत्र दिवस (Republic Day) का इतिहास लिखा है। अपने बच्चों को भी जरूर सुनाएं यह हिंदी की कविता।

 

26 जनवरी 2021, गणतंत्र दिवस भारत का राष्ट्रीय पर्व है। हर वर्ष गणतंत्र दिवस को भारतवासी पूरे जोश के साथ मनाते है। क्या आप जानते है गणतंत्र दिवस (Republic Day) क्यों मनाया जाता है? 26 January 1950 में भारत सरकार ने अंग्रेजों द्वारा बनाए अधिनियम को हटाकर भारत का संविधान लागू किया था। आज की हमारी यह हिंदी कविता गणतंत्र दिवस ( Republic Day 2021) पर है।

 

भारत के इतिहास में जुड़ गई थी

एक नई कहानी

गणतंत्र देश बन गया भारत

विश्व में छवि गई पहचानी

तोहफा मिला संविधान का

बंद हुई सब की मनमानी

अधिकारों का पता चला

कर्तव्यों की कद्र भी जानी

गति उन्नति की तेज हुई

व्यर्थ नहीं गई कुर्बानी

जवानों की परेड से इस दिन

शोभा पाती है राजधानी

मान अभिमान है वो हिंद का

जो परम गति पा गए बलिदानी

एहसान सदा रहेगा हम पर

याद करें भर नयन में पानी !

 


यह कविता भी पढ़ें :- जलियांवाला बाग। Subhadra Kumari Chauhan Poem


 

भारत के 72वे गणतंत्र दिवस के ऊपर Republic Day Poem आपके लिए लेकर आए है। यह Short Poem on Republic Day आप यह कविता अपने बच्चों को याद कराएं, ताकि इस गणतंत्र दिवस पर वह यह Republic Day Kavita अपने स्कूल में सुना सकें।

by :- मीनाक्षी कुंडू

Image credit:- canva, freepik

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.