दोस्तों, आज की कविता “जलियांवाला बाग” subhadra kumari chauhan द्वारा लिखी गई हिंदी कविता है। जिसमें उन्होंने जलियाँवाला बाग हत्याकांड जो 13 अप्रैल 1919 को हुआ था। उसके बारे में बताया है Subhadra kumari chauhan poem की यह कविता देश भक्ति कविता है।

 

 

यहाँ कोकिला नहीं, काग हैं, शोर मचाते, 

काले काले कीट, भ्रमर का भ्रम उपजाते। 

 

कलियाँ भी अधखिली, मिली हैं कंटक-कुल से, 

वे पौधे, व पुष्प शुष्क हैं अथवा झुलसे। 

 

ऑडियो सुने:-

 

विडियो देखें:-

 

परिमल-हीन पराग दाग सा बना पड़ा है, 

हा! यह प्यारा बाग खून से सना पड़ा है। 

 

ओ, प्रिय ऋतुराज! किन्तु धीरे से आना, 

यह है शोक-स्थान यहाँ मत शोर मचाना। 

 

वायु चले, पर मंद चाल से उसे चलाना, 

दुःख की आहें संग उड़ा कर मत ले जाना। 

 

कोकिल गावें, किन्तु राग रोने का गावें, 

भ्रमर करें गुंजार कष्ट की कथा सुनावें। 

 

लाना संग में पुष्प, न हों वे अधिक सजीले, 

तो सुगंध भी मंद, ओस से कुछ कुछ गीले। 

 

किन्तु न तुम उपहार भाव आ कर दिखलाना, 

स्मृति में पूजा हेतु यहाँ थोड़े बिखराना। 

 

कोमल बालक मरे यहाँ गोली खा कर, 

कलियाँ उनके लिये गिराना थोड़ी ला कर। 

 

आशाओं से भरे हृदय भी छिन्न हुए हैं, 

अपने प्रिय परिवार देश से भिन्न हुए हैं। 

 

कुछ कलियाँ अधखिली यहाँ इसलिए चढ़ाना, 

कर के उनकी याद अश्रु के ओस बहाना। 

 

तड़प तड़प कर वृद्ध मरे हैं गोली खा कर, 

शुष्क पुष्प कुछ वहाँ गिरा देना तुम जा कर। 

 

यह सब करना, किन्तु यहाँ मत शोर मचाना, 

यह है शोक-स्थान बहुत धीरे से आना।

 

– सुभद्राकुमारी चौहान

 

दोस्तों ! कविता अगर दिल को छूह जाये, तो शेयर ज़रूर कीजिएगा। 

 


# नई जानकारी के लिए Lifewingz Facebook Page को फॉलो करें    

lifewingz


ये भी पढ़ें:-

 

1) चेहरे पर चेहरा लगाए घूम रहा है आदमी – Sad poem

2) धरती को स्‍वर्ग बनायें! Save Earth Save Life

3) तू जरा सब्र तो रख! Inspirational Poem In Hindi

4) कैसा ये दौर है आया! Heart Touching Poem in Hindi

5) मत करो खिलवाड़ प्रकृति से! Poem on Prakriti in Hindi

 


 

poem by subhadra kumari chauhan

 

दोस्तों! “जलियांवाला बाग” Subhadra Kumari Chauhan Poemआपको कैसी लगी, इस hindi kavita को  शेयर करना ना भूलें और हमारी अन्य Hindi poem, article, motivational story, quotes, thoughts, या inspiring poem इत्यादि पढ़ने के लिए हमें follow ज़रूर करें! 

धन्यवाद!