माइग्रेन के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार | Home Remedies For Migraine Headache

Home Remedies For Migraine Headache

Home Remedies For Migraine Headache: माइग्रेन की समस्या एक गंभीर, आवर्ती सिरदर्द है जो मस्तिष्क के आधे हिस्से में होता है और 1 से 3 दिनों तक रह सकता है। अगर आपका कोई करीबी माइग्रेन से पीड़ित है, तो ये घरेलू उपचार दर्द को कम करने में मदद करेंगे। आइए जानते हैं माइग्रेन क्या है?, इसके कारण क्या है?, लक्षण क्या है?, और माइग्रेन से राहत पाने के घरेलू उपायों के बारे में। ये भी पढ़ें:- Depression ( मानसिक रोग ) क्या है? इसके लक्षण, कारण और उपचार-

माइग्रेन एक तेज सिरदर्द है जो अक्सर मतली, उल्टी और प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता के साथ आता है। यह घंटों या दिनों तक चल सकता है।

एक ऐसी स्थिति जिसमें सिर के आधे हिस्से में बहुत तेज दर्द होता है उसे माइग्रेन कहा जाता है। डॉक्टर माइग्रेन के सिरदर्द का सही कारण नहीं जानते हैं, विभिन्न कारकों से माइग्रेन का दर्द हो सकता है। सामान्य कारण ये हो सकते हैं:-

1. काम या घर पर तनाव माइग्रेन का कारण बन सकता है। 

2. नींद की कमी या बहुत अधिक नींद लेना कुछ लोगों में माइग्रेन का कारण बन सकता है।

3. एस्ट्रोजन में उतार-चढ़ाव, जैसे कि मासिक धर्म से पहले या मासिक धर्म के दौरान, गर्भावस्था के दौरान और रजोनिवृत्ति के दौरान, कई महिलाओं में माइग्रेन सिरदर्द की समस्या हो सकती है।

4. अधिक गर्म या ठण्डा मौसम भी माइग्रेन का कारण बनता है।

5. चमकती रोशनी, टीवी या कंप्यूटर से रोशनी और सूरज की रोशनी भी माइग्रेन का कारण हो सकती है।

6. अगर आप सिर दर्द से राहत के लिए, किसी दवा का बार-बार इस्तेमाल करते हैं तो ये भी बड़ा कारण हो सकता है माइग्रेन के सिर दर्द का।

7. समय से खाना ना खाने से भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है।

8. यदि आपके परिवार के किसी सदस्य को माइग्रेन है, तो आपको भी माइग्रेन होने की संभावना है।

माइग्रेन एक प्रकार की न्यूरोलॉजिकल (neurological) स्थिति है जो अक्सर निम्नलिखित लक्षणों के साथ उपस्थित हो सकती है, जिनमें शामिल हैं:-

1. जी मिचलाना।

2. पूरे या सिर के एक ही हिस्से में दर्द होना।

3. ध्वनि, प्रकाश या गंध के प्रति संवेदनशीलता।

4. गर्दन में अकड़न।

5. आंखों से कम दिखाई देना।

6. चेहरे या शरीर के एक तरफ कमजोरी या सुन्न महसूस करना।

7. धुंधला दिखाई पड़ना।

हालांकि माइग्रेन के लिए कई दवाएं हैं, लेकिन माइग्रेन की समस्या से निजात पाने के लिए सबसे पहले घरेलू नुस्खे अपनाए जाते हैं। माइग्रेन सिरदर्द के इलाज के लिए यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं। जिन्हें आप आसानी से घर पर आजमा सकते हैं।

1. आइस पैक:- माइग्रेन के कारण सूजी हुई मांसपेशियों को आराम देने के लिए आइस पैक बहुत मददगार होते हैं। एक साफ तौलिये में बर्फ के कुछ टुकड़े रखें और इसे अपने सिर, माथे और गर्दन के पिछले हिस्से पर 10-15 मिनट के लिए लगाएं। यदि आइस पैक आसानी से उपलब्ध नहीं है तो आप आइस पैक के विकल्प के रूप में फ्रोजन जेल या ठंडे पानी में डूबा हुआ कोई कपड़ा भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. कैफीन लें:- यह कॉफी और अन्य खाद्य पदार्थों में पाया जाने वाला एक घटक है। यह आपको आपके माइग्रेन अटैक से राहत दिला सकता है। कम मात्रा में कैफीन का सेवन ठीक है, लेकिन अधिक मात्रा में लेने से थकान और सिरदर्द बढ़ने की संभावना अधिक होती है।

3. विटामिन बी2 का सेवन करें:- माइग्रेन के दर्द से राहत पाने के घरेलू उपचारों में से एक है विटामिन बी 2 से भरपूर खाद्य पदार्थ खाना। यह विटामिन मुख्य रूप से मछली, पनीर, डेयरी और चिकन में पाया जाता है।

4. दालचीनी:- यह एक ऐसा मसाला है जो खाने के स्वाद को बढ़ाता है और माइग्रेन के सिरदर्द को कम करने में मदद करता है। दालचीनी को पानी में पीसकर 30 मिनट के लिए अपने माथे पर लगाएं। जल्द ही आपको मानसिक शांति मिलेगी।

5. पुदीने की चाय पिएं:- पेपरमिंट नसों को शांत करता है और परिसंचरण में सुधार करने में सहायता करता है। पुदीने की चाय पीने से माइग्रेन के दौरे से होने वाले दर्द को दूर किया जा सकता है।

6. सिर की मालिश करें:- सिर की मालिश रक्त परिसंचरण में सुधार करती है और बहुत आराम देती है। ऐसा देखा गया है कि नियमित मालिश से माइग्रेन के सिरदर्द की संभावना कम हो जाती है।

7. एक्यूपंक्चर:- माइग्रेन के सिरदर्द के लिए एक्यूपंक्चर सबसे प्रसिद्ध घरेलू उपचारों में से एक है। यह ऊतकों में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में मदद कर सकता है। नियमित उपचार से माइग्रेन के दर्द को कम किया जा सकता है। 

8. नियमित व्यायाम करें:- नियमित व्यायाम माइग्रेन के दर्द को कम करने में मदद करता है। जब आप नियमित रूप से व्यायाम करते हैं, तो आपका शरीर एंडोर्फिन छोड़ता है जो दर्द से लड़ने में मदद करेगा। रोजाना वर्कआउट करने से आपको बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है और आपके तनाव का स्तर नियंत्रण में रहता है।

9. प्रकाश से बचें:- माइग्रेन प्रकाश और ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता बढ़ाता है, मेयो क्लिनिक एक अंधेरे और शांत कमरे में आराम करने की सलाह देता है। हो सके तो सोने की कोशिश करें।

10. अच्छी नींद लें:- माइग्रेन के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है रात को अच्छी नींद लेना। एक स्वस्थ नींद, माइग्रेन के दर्द को कम करने का सबसे अच्छा समाधान है।

माइग्रेन से बचने के लिए अपनी जीवनशैली और आहार में कुछ बदलाव करके माइग्रेन के विकास के जोखिम को कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

1. नियमित रूप से खाएं। भोजन न छोड़ें।

2. माइग्रेन के मरीजों को सूप, नींबू पानी, नारियल पानी, छाछ और लस्सी जैसे तरल पदार्थों का खूब सेवन करना चाहिए।

3. बहुत अधिक तेल और मसालेदार भोजन से बचें क्योंकि ये माइग्रेन की समस्या को बढ़ाते हैं।

4. अत्यधिक दर्द निवारक दवाओं से बचें। 

5. खूब सारे फल और हरी सब्जियां खाएं।

6. तनाव कम करने के लिए रोज सुबह टहलने जाएं और हार्मोन को संतुलित करने और माइग्रेन को कम करने के लिए घास पर नंगे पैर चलें।

7. डिहाइड्रेशन से बचने और माइग्रेन से राहत पाने के लिए रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पिएं। 

8. गर्मियों के मौसम में ज्यादा यात्रा करने से बचें।

9. योग से भी आप माइग्रेन के दर्द से राहत पा सकते है योग में आप बालासन, उत्तानासन, सेतुबंध सर्वांगासन और हलासन कर सकते है।

माइग्रेन का अक्सर निदान नहीं किया जाता है  यदि आपको नियमित रूप से माइग्रेन का दर्द हो रहा हैं और निम्न में से कोई भी लक्षण हैं, तो ये एक अधिक गंभीर चिकित्सा समस्या का संकेत हो सकता है। आपको तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 


यदि आप माइग्रेन से पीड़ित हैं तो इन घरेलू इलाजों के अलावा भी, डॉक्टर या माइग्रेन विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए। इन सबके अलावा आप डॉक्टर की सलाह से अपनी सही डाइट भी सुनिश्चित करें। आपको ये लेख कैसा लगा कमेंट करके हमे जरूर बताएं।

Image Credit:- Canva

Leave a Reply

Your email address will not be published.