मेरी रूह में यूँ बस रहे हो तुम! Poem for Love in Hindi

romantic poem in hindi

आज poem for love in hindi में हमने आप से एक प्रेमी कि feeling share की है, हो सकता है आप को, hindi poems in love पड़ते हुए अपनी या किसी और की love story याद आ जाए। आज के समय में true love stories कम ही मिलती है। इस लिए आज हम आपके लिए एक प्रेम से भरपूर ( love poem ) कविता लेकर आए है।

मेरे जिस्म की रूह हो तु

बेखयाली में भी खयाल हो तुम

नींद में सपने हो तुम।। kiss

गैरों में अपने हो तुम

दिल की धड़कन हो तुम

हर मुस्कुराहट में बसते हो तुम।।

कभी हसाते हो तुम

कभी रुलाते हो तुम

हर पल याद आते हो तुम।। kiss

हर लम्हे में बसे हो तुम

तुम ना दिखो जिस दिन मुझे।।

मानो वो दिन सदियों सा लंबा लगे मुझे

हर समय बस ये ही दुआ करू मैं

मेरी जिंदगी में ऐसे ही बसे रहो तुम।। 0542

कविता अगर दिल को छूह जाये, तो शेयर ज़रूर कीजियेगा। 

ये भी पढ़ें:-
1)  ज़िन्दगी एक किताब है। ( hindi kavita )
2)  मेरे पिता पर सुन्दर कविता – मेरे पिता मेरा अभिमान !
3)  क्यों कहते है – “जय माता दी”? नारी की आवाज!

by Shubhi Gupta ( शुभी गुप्ता )
Story and Poem Writer

इस प्यार भरी कविता ( poem for love in hindi )  में कवि ने अपने प्यार को बहुत ही सुंदर शब्दों की माला में पिरोया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.