“तू जरा सब्र तो रख ( Inspirational Poem In Hindi )” इस हिंदी कविता में बताया है कि जब हमारे अपने साथ होते है, तो कोई भी काम मुश्किल नही होता सब कुछ हमारे हाथ में होता है यह कविता हम सब के जीवन पर ही है! hindi poems on life अपनों का साथ होता ही ऐसा है सही बोला ना!

 

रुक जरा तू

सब्र कर जरा तू

दौड़Man Walking on Google मत ऐसे

कल का क्या ही पता है तुझे,

 

कितने आज पाप करेगा तू

एक बार दिमाग से नहीं

दिल Red Heart on Google से सोच कर देख,


# नई जानकारी के लिए Lifewingz Facebook Page को फॉलो करें  lifewingz


जो तू कर रहा है 

वो सही है

ऐसे अपनों को 

परेशानWoman Frowning on Google कर, 

 

कैसे खुद से नीघाMan Pouting on Google मिला पाता है तू

सब्र तू रख 

अपनों का साथ दे कर देख,

 

जिस चीज़ के पीछे भाग रहा है

वो फिर तेरे पीछे आएगी,

 

रख भरोसा अपनों पर

देख कैसे आसमान की 

ऊँचाइयों को छूता है तू! Smiling Face with Smiling Eyes on Google

 

दोस्तों ! कविता अगर दिल को छूह जाये, तो शेयर ज़रूर कीजियेगा। ?

 


ये भी पढ़ें:-

 

1) कोरोना को हराना है! Hindi Mein Poem

2) कर्म का फल! Karm Ka Fal Hindi Poem

3) अनकही बातें (Ankahi baatein) Hindi kavita

4) कठपुतली हिंदी कविता! Kathputli Poem in Hindi

5) मत करो खिलवाड़ प्रकृति से! Poem on Prakriti in Hindi

 


 

by Shubhi Gupta ( शुभी गुप्ता )
Story and Poem Writer

 

दोस्तों!

“तू जरा सब्र तो रख ( Inspirational Poem In Hindi )” Hindi poem आपको कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूलें और हमारी  अन्य Hindi poem, article, motivational story, quotes, thoughts, या inspiring poem इत्यादि पढ़ने के लिए हमें follow ज़रूर करें! 

धन्यवाद!

 

Image Credits- pixabay